+- +-

HTML ezBlock

"Access Jobs published on 35,227 websites in the world."




+-User

Welcome, Guest.
Please login or register.
 
 
 
Forgot your password?

HTML ezBlock

+-Stats ezBlock

Members
Total Members: 3
Latest: allenbone
New This Month: 0
New This Week: 0
New Today: 0
Stats
Total Posts: 104
Total Topics: 101
Most Online Today: 0
Most Online Ever: 18
(January 10, 2018, 02:57:24 am)
Users Online
Members: 0
Guests: 0
Total: 0

Recent Posts

Pages: [1] 2 3 ... 10
1
https://www.youtube.com/watch?v=fkUDeavaa4E

TribesTV
Published on Mar 28, 2018
Bob Marley may well be the world's most beloved musician. His rise to fame put reggae on the world map, and became an international superstar that wore his heart and his politics on his sleeve. Never one to back down from a struggle, he used his platform to discuss the struggles of everyday people, and in doing so, became a hero to millions across the globe. Despite his untimely death, he left us with a universal message of love and hope that has inspired generations of fans and musicians alike. Like all great artists, he has made the world feel smaller, a little more filled with love.
2
General Discussion / Om Sarvesham Svastir Bhavatu (Peace Mantra)
« Last post by Admin on April 11, 2018, 11:21:17 pm »
https://www.youtube.com/watch?v=yQhEhulrH2U

 ॐ सर्वेशां स्वस्तिर्भवतु ।
सर्वेशां शान्तिर्भवतु ।
सर्वेशां पुर्णंभवतु ।
सर्वेशां मङ्गलंभवतु ।
ॐ शान्तिः शान्तिः शान्तिः ॥

Om Sarveshaam Svastir-Bhavatu |
Sarveshaam Shaantir-Bhavatu |
Sarveshaam Purnnam-Bhavatu |
Sarveshaam Manggalam-Bhavatu |
Om Shaantih Shaantih Shaantih ||
http://topic.81314.x6.nabble.com/Om-Sarvesham-Svastir-Bhavatu-Peace-Mantra-td1994.html
3
General Discussion / Gayatri Mantra
« Last post by Admin on April 11, 2018, 10:33:49 pm »
https://www.youtube.com/watch?v=0LLArDaRTWE

oṃ bhūr bhuvaḥ svaḥ

    tát savitúr váreniyaṃ

    bhárgo devásya dhīmahi

    dhíyo yó naḥ prachodáyāt

4
Global media outlets have been abuzz recently about a large “crack” which appeared in the Kenyan Rift Valley. Many of these news pieces have tried to get to the bottom of what caused this feature, with many reports concluding that it was evidence for the African continent actively splitting into two. However, many articles cited limited expert comment, much of which was taken out of context and was based on minimal hard evidence. Other articles fed directly off previous reports, propagating unsubstantiated rumours and losing sight of original sources.

https://www.theguardian.com/science/blog/2018/apr/06/africa-is-slowly-splitting-in-two-but-this-crack-in-kenya-rift-valley-has-little-to-do-with-it
5
General Discussion / #शर्मनाक 😰
« Last post by Admin on March 31, 2018, 06:03:04 am »
" गुजरात के भाव नगर में एक दलित लड़के 22 साल को क्षत्रिय लोगो ने मात्र इसलिए मार डाला की उसने अपने पापा से कहकर एक घोडा खरीद लिया था..... क्षत्रिय लोगो का कहना था की ये बस हम रख सकते हे तुम जेसे नीच जात बाले नही...


बताओ क्या सिर्फ ये घोडा रखना क्या क्षत्रियो की ही बापोति हे क्या कोई और नही रख सकता ये सरासर अन्याय हे जबकि आज इस कुप्रथा को खत्म किया जा रहा हे की सब बराबर हे तो ये कुकर्म क्यू , कि उनको अधिकार नही की वो भी अपने मन मुताबिक रहे.... तुम हो कौन फैसला करने बाले जज हो, कानून हो , या कहि के राजा.....




अब जाती धर्म से ऊपर उठो वरना दूसरे तुम्हे खा जायेगे और पता भी नही चलेगा.....




आज उस बच्चे की मोत से उसकी माँ और बाप पर क्या बित रही हे ये तुम तब जानोगे जब तुमारे सामने तुम खुद अपने बेटे की अर्थी को कन्धा दोगे......




नोट-- अगर किसी को मेरी पोस्ट से तक्लिफ़ हो


और न्याय की बात न कर सके बो मत आना क्युकि जाती छोटी हो या बड़ी बेटा अपने माँ बाप के दिल का टुकड़ा होता है....😰




Author: Manishagupta Hosela

6
General Discussion / कॉमरेड कथा
« Last post by Admin on March 31, 2018, 05:49:33 am »

अभी पुष्पा को कालेज आये चार ही दिन हुए थे कि उसकी मुलाक़ात एक क्रांतिकारी से हो गयी. ...ब्रांडेड जीन्स पर फटा हुआ कुरता पहने क्रान्ति की बोझ में इतना दबा था कि उसे दूर से देखने पर ही यकीन हो जाता था ..इसे नहाये मात्र सात दिन हुये हैं..... .बराबर उसके शरीर से क्रांति की गन्ध आती रहती थी... लाल गमछे के साथ झोला लटकाये सिगरेट फूंक कर क्रांति कर ही रहा था तब तक....

पुष्पा ने कहा..."नमस्ते भैया.. ..

"हुंह ये संघी हिप्पोक्रेसी."..काहें का भइया और काहें का नमस्ते?..हम इसी के खिलाफ तो लड़ रहे हैं...प्रगतिशीलता की लड़ाई...ये घीसे पीटे संस्कार...ये मानसिक गुलामी के सिवाय कुछ नहीं.....आज से सिर्फ लाल सलाम साथी कहना।

पुष्पा ने सकुचाते हुए पूछा.."आप क्या करते हैं ..क्रांतिकारी ने कहा.."हम क्रांति करते हैं....जल,जंगल,जमीन की लड़ाई लड़ते हैं..शोषितों वंचितों की आवाज उठातें हैं..

क्या तुम मेरे साथ क्रांति करोगी?

पुष्पा ने सर झुकाया और धीरे से कहा...."नहीं मैं यहाँ पढ़ने आई हूँ...कितने अरमानों से मेरे किसान पिता ने मुझे यहाँ भेजा है..पढ़ लिखकर कुछ बन जाऊं तो समाज सेवा मेरा भी सपना है.....".

क्रांतिकारी ने सिगरेट जलाई और बेतरतीब दाढ़ी को खुजाते हुए कहा....यही बात मार्क्स सोचे होते...लेनिन और मावो सोचे होते....कामरेड चे ग्वेरा....?बोलो?

तुमने पाश की वो कविता पढ़ी है...

"सबसे खतरनाक होता है मुर्दा शान्ति से भर जाना"

तुम ज़िंदा हो पुष्पा.मुर्दा मत बनों....क्रांति को तुम्हारी जरूरत है....लो ये सिगरेट पियो...."

पुष्पा ने कहा..."सिगरेट से क्रांति कैसे होगी..?

क्रांतिकारी ने कहा.."याद करो मावो और चे को वो सिगरेट पीते थे...और जब लड़का पी सकता है तो लड़की क्यों नहीं....हम इसी की तो लड़ाई लड़ रहे हैं..." यही तो साम्यवाद है ।

और सुनों कल हमारे प्रखर नेता कामरेड फलाना आ रहे हैं....हम उनका भाषण सुनेंगे..और अपने आदिवासी साथियों के विद्रोह को मजबूत करेंगे...लाल सलाम.चे.मावो..लेनिन.."

पुष्पा ने कहा..."लेकिन ये तो सरासर अन्याय है...कामरेड फलाना के लड़के तो अमेरिका में पढ़ते हैं...वो एसी कमरे में बिसलेरी पीते हुए जल जंगल जमीन पर लेक्चर देते हैं...और वो चाहतें हैं की कुछ लोग अपना सब कुछ छोड़कर नक्सली बन जाएँ और बन्दूक के बल पर दिल्ली पर अपना अधिकार कर लें...ये क्या पागलपन है..उनके अपने लड़के क्यों नहीं लड़ते ये लड़ाई. हमें क्यों लड़ा रहे.? क्या यही क्रांति है"?

क्रांतिकारी को गुस्सा आया...उसने कहा.."तुम पागल हो..जाहिल लड़की..तुम्हें ये सब बिलकुल समझ नहीं आएगा...तुमने न अभी दास कैपिटल पढ़ा है न कम्युनिस्ट मैनूफेस्टो...न तुम अभी साम्यवाद को ठीक से जानती हो न पूंजीवाद को..."

पुष्पा ने प्रतिवाद करते हुए कहा...."लेकिन इतना जरूर जानती हूँ कामरेड कि मार्क्सवाद शुद्ध विचार नही है..इसमें मैन्यूफैक्चरिंग फॉल्ट है।

यह हीगल के द्वन्दवाद,इंग्लैण्ड के पूँजीवाद.और फ्रांस के समाजवाद का मिला जुला रायता है.....जो न ही भारतीय हित में है न भारतीय जन मानस से मैच करता है।.

क्रांतिकारी ने तीसरी सिगरेट जलाई...और हंसते हुए कहा..."ये बुर्जुर्वा हिप्पोक्रेसी..तुम कुछ नहीं जानती... छोड़ो...तुम्हें अभी और पढ़ने की जरूरत है...कल आवो हम फैज़ को गाएंगे...." बोल के लब आजाद हैं तेरे'

पाश को गुनगुनाएंगे..हम क्रांति करेंगे...."आई विल फाइट कामरेड"

"हम लड़ेंगे साथी..उदास मौसम के खिलाफ"

अगले दिन उदास मौसम के खिलाफ खूब लड़ाई हुई...पोस्टर बैनर नारे लगे...साथ जनगीत डफली बजाकर गाया गया और क्रांति साइलेंट मोड में चली गयी.. तब तक दारु की बोतलें खुल चूकीं थीं.....

क्रांतिकारी ने कहा..."पुष्पा ये तुम्हारा नाम बड़ा कम्युनल लगता है..पुष्पा पांडे....नाम से मनुवाद की बू आती है...कुछ प्रोग्रेसिव नाम होना चाहिए..... आई थिंक..कामरेड पूसी सटीक रहेगा।

पुष्पा अपना कामरेडी नामकरण संस्कार सुनकर हंस ही रही थी तब तक क्रान्तिकारी ने दारु की गिलास को आगे कर दिया....

पुष्पा ने दूर हटते हुए कहा...."नहीं...ये नहीं..हो सकता।"

क्रान्तिकारी ने कहा..."तुम पागल हो..क्रान्ति का रास्ता दारु से होकर जाता है..याद करो मावो लेनिन और चे को...सबने लेने के बाद ही क्रांति किया है.."

पुष्पा ने कहा..लेकिन दारु तो ये अमेरिकन लग रही...हम अभी कुछ देर पहले अमेरिका को जी भरके गरिया रहे थे......

क्रांतिकारी ने गिलास मुंह के पास सटाकर काजू का नमकीन उठाया और कहा..."अरे वो सब छोड़ो पागल..समय नहीं ..क्रान्ति करो. दुनिया को तेरी जरूरत है....याद करो चे को मावो को.....हाय मार्क्स।

पुष्पा का सारा विरोध मार्क्स लेनिन और साम्यवाद के मोटे मोटे सूत्रों के बोझ तले दब गया.....वो कुछ ही समय बाद नशे में थी....

क्रांतिकारी ने क्रांति के अगले सोपान पर जाकर कहा..."कामरेड पुसी ..अपनी ब्रा खोल दो.."

पुष्पा ने कहा.."इससे क्या होगा?...

क्रांतिकारी ने उसका हाथ दबाते हुए कहा.. "अरे तुम महसूस करो की तुम आजाद हो..ये गुलामी का प्रतीक है..ये पितृसत्ता के खिलाफ तुम्हारे विरोध का तरीका है..तुम नहीं जानती सैकड़ों सालों से पुरुषों ने स्त्रियों का शोषण किया है.....हम जल्द ही एक प्रोटेस्ट करने वाले हैं...."फिलिंग फ्रिडम थ्रो ब्रा" जिसमें लड़कियां कैम्पस में बिना ब्रा पहने घूमेंगी।"

पुष्पा अकबका गई..."ये सब क्या बकवास है कामरेड..ब्रा न पहनने से आजादी का क्या रिश्ता"?

क्रांतिकारी ने कहा....'यही तो स्त्री सशक्तिकरण है कामरेड पुसी...देह की आजादी...जब पुरुष कई स्त्रियों को भोग सकता है...तो स्त्री क्यों नहीं....क्या तुम उन सभी शोषित स्त्रियों का बदल लेना चाहोगी?"

पुष्पा ने पूछा...."हाँ लेकिन कैसे"?...

क्रान्तिकारी ने कहा..."देखो जैसे पुरुष किसी स्त्री को भोगकर छोड़ देता है...वैसे तुम भी किसी पुरुष को भोगकर छोड़ दो...."

पुष्पा को नशा चढ़ गया था...

"कैसे बदला लूँ..कामरेड...?

क्रांतिकारी की बांछें खिल गयीं..उसने झट से कहा..."अरे मैं हूँ न..पुरुष का प्रतीक मुझे मान लो..मुझे भोगो कामरेड और हजारों सालों से शोषण का शिकार हो रही स्त्री का बदला लो।" बदला लो कामरेड.....उस दैत्य पुरुष की छाती पर चढ़कर बदला लो।"

कहतें हैं फिर रात भर लाल सलाम और क्रान्ति के साथ बिस्तर पर स्त्री सशक्तिकरण का दौर चला.. बार बार क्रांति स्खलित होती रही......कामरेड ने दास कैपिटल को किनारे रखकर कामसूत्र का गहन अध्ययन किया....

अध्ययन के बाद सुबह पुष्पा उठी तो...आँखों में आंशू थे..क्या करने आई थी ये क्या करने लगी...गरीब माँ बाप का चेहरा याद आया...हाय.....कुछ् दिन से कितनी चिड़चिड़ी होती जा रही...चेहरा इतना मुरझाया सा...अस्तित्व की हर चीज से नफरत होती जा रही.नकारात्मक बातें ही हर पल दिमाग में आती है....हर पल एक द्वन्द सा बना रहता है...."अरे क्या पुरुषों की तरह काम करने से स्त्री सशक्तिकरण होगा की स्त्री को हर जगह शिक्षा और रोजगार के उचित अवसर देकर.....पुष्पा का द्वन्द जारी था...

उसने देखा क्रांतिकारी दूर खड़ा होकर गाँजा फूंक रहा है....

पुष्पा ने कहा."सुनों मुझे मन्दिर जाने का मन कर रहा है.....अजीब सी बेचैनी हो रही है...लग रहा पागल हो जाउंगी....."

क्रांतिकारी ने गाँजा फूंकते हुए कहा.."पागल हो गयी हो..क्या तुम नहीं जानती की धर्म अफीम है"?

जल्दी से तैयार हो जा..हमारे कामरेड साथी आज हमारा इन्तजार कर रहे...हम आज संघियों के सामने ही "किस आफ लव करेंगे"...

शाम को याकूब,इशरत और अफजल के समर्थन में एक कैंडील मार्च निकालेंगे...

पुष्पा ने कहा..."इससे क्या होगा ये सब तो आतंकी हैं. देशद्रोही....सैकड़ों बेगुनाहों को हत्या की है...कितनों का सिंदूर उजाड़ा है...कितनों का अनाथ किया है.....

क्रांतिकारी ने कहा..."तुम पागल हो लड़की....

पुष्पा जोर से रोइ...."नहिं मुझे नहीं जाना... मुझे आज शाम दुर्गा जी के मन्दिर जाना है...मुझे नहीं करनी क्रांति...मैं पढ़ने आई हूँ यहाँ...मेरे माँ बाप क्या क्या सपने देखें हैं मेरे लिए.....नहीं ये सब हमसे न होगा...."

क्रांतिकारी ने पुष्पा के चेहरे को हाथ में लेकर कहा....."तुमको हमसे प्रेम नहीं.?...गर है तो ये सब बकवास सोचना छोड़ो....." याद करो मार्क्स और चे के चेहरे को...सोचो जरा क्या वो परेशानियों के आगे घुटने टेक दिए...नहीं...उन्होंने क्रान्ति किया। आई विल फाइट कामरेड....

पुष्पा रोइ...लेकिन हम किससे फाइट कर रहे हैं..?

क्रांतिकारी ने आवाज तेज की और कहा ये सोचने का समय नहीं.....हम आज शाम को ही महिषासुर की पूजा करेंगे...और रात को बीफ पार्टी करके मनुवाद की ऐसी की तैसी कर देंगे.. फिर बाद दारु के साथ चरस गाँजा की भी व्यवस्था है।

पुष्पा को गुस्सा आया..चेहरा तमतमाकर बोली...."अरे जब दुर्गा जी को मिथकीय कपोल कल्पना मानते हो तो महिषासुर की पूजा क्यों....?

क्रान्तिकारी ने कहा.अब ये समझाने का बिलकुल वक्त नहीं...तुम चलो...मुझसे थोड़ा भी प्रेम है तो चलों..हाय चे हाय मावो...हाय क्रांति...".

इस तरह से क्रांति की विधिवत शुरुवात हुई.... धीरे धीरे कुछ दिन लगातार दिन में क्रांति और रात में बिस्तर पर क्रांति होती रही...पुष्पा अब सर्टिफाइड क्रांतिकारी हो गयी थी......पढ़ाई लिखाई छोड़कर सब कुछ करने लगी थी...कमरे की दीवाल पर दुर्गा जी हनुमान जी की जगह चे और मावो थे....अगरबत्ती की जगह..सिगरेट..और गर्भ निरोधक के साथ सर दर्द और नींद की गोलियां....अब पुष्पा के सर पे क्रांति का नशा हमेशा सवार रहता...

कुछ दिन बीते.एक साँझ की बात है पुष्पा ने अपने क्रांतिकारी से कहा..."सुनो क्रांतिकारी..तुम अपने बच्चे के पापा बनने वाले हो...आवो हम अब शादी कर लें?

कहते हैं तब क्रांतिकारी की हवा निकल गयी...

मैंनफोर्स और मूड्स के बिज्ञापनों से विश्वास उठ गया..उसने जोर से कहा.."नहीं पुष्पा...कैसे शादी होगी..मेरे घर वाले इसे स्वीकार नहीं करेंगे....हमारी जाति और रहन सहन सब अलग है......यार सेक्स अलग बात है और शादी वादी वही बुर्जुवा हिप्पोक्रेसी....मुझे ये सब पसन्द नहीं..हम इसी के खिलाफ तो लड़ रहे हैं। ?"

पुष्पा तेज तेज रोने लगी.... वो नफरत और प्रतिशोध से भर गयी...लेकिन अब वो वहां खड़ी थी जहाँ से पीछे लौटना आसान न था।

कहतें हैं क्रांति के पैदा होने से पहले क्रांतिकारी पुष्पा को छोड़कर भाग खड़ा हुआ और क्रान्ति गर्भपात का शिकार हो गयी।

लेकिन इधर पता चला है की क्रांतिकारी अपनी जाति में विवाह करके एक ऊँचे विश्वविद्यालय में पढ़ा रहा।

और कामरेड पुष्पा अवसाद के हिमालय पर खड़े होकर सार्वजनिक गर्भपात के दर्द से उबरने के बाद जोर से नारा लगा रही..

"भारत की बर्बादी तक जंग चलेगी जंग चलेगी

काश्मीर की आजादी तक जंग चलेगी जंग चलेगी।"



साभार - अतुल कुमार (बीएचयू विश्व विद्यालय वाराणसी )

7
General Discussion / Why I Chose Hinduism
« Last post by Admin on March 31, 2018, 04:29:08 am »

Hunter Salazar
Published on Jan 20, 2018

I chose a way of cosmic analysis after studying many religions and spiritual traditions and was not satisfied with any perspective until I finally reached Hinduism. I've covered this before but I add some quirky reasons in this video that may be interesting to some. Thank you for watching!
https://www.youtube.com/watch?v=2Cv27wKx6Ec
8
General Discussion / 26,450 Year Old Hindu Idol of Lord Shiva - Kalpa Vigraha
« Last post by Admin on March 31, 2018, 01:02:20 am »
https://www.youtube.com/watch?v=qhHQT0HYWq0


Indian Monk
Published on Mar 22, 2018

9
https://www.youtube.com/watch?v=LUx8wlA_dk8



T-Series Bhakti Sagar
Published on Mar 26, 2018

Shree Hanuman Chalisa 00:00
Sankatmochan Hanuman Ashtak     09:44
Jai Jai Hanuman Gusai           15:52
Bajrang Baan      20:06
Shree Hanuman Ji Ki Aarti            27:52
Mangalmurti Maruti Nandan    32:13
Shree Hanuman Vandana     38:50
Shree Hanuman Stavan 41:17

Singer: HARIHARAN
Album: Shree Hanuman Chalisa (Hanuman Ashtak)
Music Director: Lalit Sen,Chander
Lyrics: Traditional
Artist: Shree Gulshan Kumar
10
General Discussion / ॐ MANTRA GIVES POWERFUL ENERGY OF SUCCESS ॐ MAGIC MANTRA ॐ
« Last post by Admin on March 30, 2018, 02:49:02 am »
https://www.youtube.com/watch?v=uwOOSLPak-c

Magic Mantra
Published on Jul 28, 2017
ॐ MANTRA GIVES POWERFUL ENERGY OF SUCCESS ॐ MAGIC MANTRA ॐ
“The Personality of #Godhead is perfect and complete, and because He is completely perfect, all emanations from Him, such as this phenomenal world, are perfectly equipped as complete wholes. Whatever is produced of the Complete Whole is also complete in itself. Because He is the Complete Whole, even though so many complete units emanate from Him, He remains the complete balance.

Everything animate or inanimate that is within the universe is controlled and owned by the #Lord. One should therefore accept only those things necessary for himself, which are set aside as his quota, and one should not accept other things, knowing well to whom they belong.”

Our contaminated consciousness, identifying too much with matter has led to the illusion of ‘imperfection’. This is because matter is cyclical in nature, since it is created it is destroyed at some point of time, and hence created again. The destruction brings in fear, and we tend to hurry a lot in life, not understanding the real questions.

If I ask you who you are, the first thing you would say is your name. But are you your name? Your name is just what the world chose to call yourself.

In fact, we don’t know who we are. Instead of pursuing the questions of our consciousness boldly, we tend to ignore them and just try to control nature. But know that unless you know what/who you actually are and why you came into being, all else is just momentary pleasure….like drugs, not a permanent solution to birth, old age, death and disease. Who would you say is enjoying the world and achieved or lost something? Your name?

Actually acceptance and submission lets you explore yourself rather than the world. The world has been here for a long, long time. Don’t worry about it. Worry about your identity and the basic questions of existence: What is reality? What is experience? Who is experiencing?

These kinds of #spiritual queries drive you in life. There are two ways to deal with life. The first is total acceptance and the second is total rebellion. Most of us fall somewhere confused in between. Both come from constant practice. Both will culminate into knowledge. But total rebellion requires a lot of courage, a different framework. You fight/put yourself into action to the point that you lose yourself. Acceptance requires that you become humble to the point you lose yourself.

There is nothing like this #mantra. We all are a collective and individual consciousness simultaneously. We all are seeking true pleasure. We all are seeking the ultimate truth. We all are seeking immortality, an end to all misery/nothingness.

Om Purnam Adah Purnam Idam
Purnat Purnam Udachyate
Purnasya Purnam Adaya
Purnam Evam Vashishyate

Ishavasyam Idam Sarvam
Yat Kincha Jagatyam Jagat
Tena Tyaktena Bhundjitha
Ma Grdhah Kasya Svit Dhanam

************************************************************************

Mantra - it is a combination of special sounds and vibrations that purify space, body, mind and consciousness from negative energies. Mantra – it is an ancient sacred formula that gives a powerful Divine energy, it is the key that opens the way to the Supreme Divine knowledge.

Repeat the mantras possible any number of times, but the most importantly the number of repetitions has to be a multiple of three. You can repeat them 3,6,9,15 ... times, but the best effect is obtained with a daily repetition of mantras 108 times, because the number of one hundred and eight is considered sacred. One – it symbolizes the Supreme Divine Energy, zero – it is the perfection of God's creation and eight – it is a symbol of eternity and infinity in an inverted form.

In order not to make mistakes in counting the number of times they recommend to use the rosary. Rosary also helps to concentrate better on the mantra and sensations and also while singing mantras it is charging with powerful energy and can serves as an excellent talisman and amulet.
Pages: [1] 2 3 ... 10

+-Recent Topics

Bob Marley's Life Story: From slumdog to superstar, his music changed the world by Admin
April 13, 2018, 11:33:01 pm

Om Sarvesham Svastir Bhavatu (Peace Mantra) by Admin
April 11, 2018, 11:21:17 pm

Gayatri Mantra by Admin
April 11, 2018, 10:33:49 pm

Africa is slowly splitting in two – but this 'crack' in Kenya has little to do with it by Admin
April 11, 2018, 10:15:25 pm

#शर्मनाक 😰 by Admin
March 31, 2018, 06:03:04 am

कॉमरेड कथा by Admin
March 31, 2018, 05:49:33 am

Why I Chose Hinduism by Admin
March 31, 2018, 04:29:08 am

26,450 Year Old Hindu Idol of Lord Shiva - Kalpa Vigraha by Admin
March 31, 2018, 01:02:20 am

Hanuman Jayanti Special I Shree Hanuman Chalisa I Gulshan Kumar I Hariharan I Hanuman Ashtak by Admin
March 30, 2018, 06:18:46 am

ॐ MANTRA GIVES POWERFUL ENERGY OF SUCCESS ॐ MAGIC MANTRA ॐ by Admin
March 30, 2018, 02:49:02 am

Powered by EzPortal